French Open 2020: फ्रेंच ओपन 2020 में राफेल नडाल की जीत की हुई शुरुआत;अगले दौर में होगा सेबास्टियन कोर्डा से सामना

French Open 2020: फ्रेंच ओपन 2020 में राफेल नडाल की जीत की हुई शुरुआत;अगले दौर में होगा सेबास्टियन कोर्डा से सामना

स्पेन के राफेल नडाल जिन्हें लाल बजरी के बादशाह भी कहा जाता है, उन्होंने ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन में जीत की शुरुआत करते हुए दूसरे दौर में अपना स्थान बना लिया है। स्विट्जरलैंड के स्टान वावरिंका जो कि वर्ष 2015 के विजेता रह चुके हैं, उन्हें टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा है। इसी तरह से अमेरिकी ओपन के विजेता थीम ने भी जीतकर चौथे दौर में स्थान पा लिया है। 20वें ग्रैंड स्लैम का खिताब पाने की चाह रखने वाले खिलाड़ी नडाल ने शुक्रवार के दिन फिलिपे चार्टर कोर्ट पर खेले गए मैच में इटली के स्टेफानो ट्रावागिला को सीधे सेटों में 6-1, 6-4, 6-0 से हराया। यह टूर्नामेंट करीब डेढ़ घंटे तक खेला गया।

मैच की समाप्ति के पश्चात नडाल ने कहा कि कई महीने टेनिस नहीं खेल पाने की वजह से हम सभी खिलाड़ी कुछ अजीब हालात में पहुंच गए हैं, उन्होंने कहा कि विशेष रूप से उनके लिए ज्यादा अजीब स्थिति बनी हुई थी, क्योंकि वे अभी तक अमेरिका ओपन में नहीं खेले थे। उन्होंने आगे कहा कि वे यह तय नहीं कर पा रहे थे कि यह सारी स्थिति सकारात्मक थी या नकारात्मक थी। परन्तु वे नकारात्मक चीजों पर ध्यान न देकर सकारात्मक विचारों को ही अपना रहे थे। इसी के परिणामस्वरूप उन्होंने स्टेफानो जैसे मजबूत खिलाड़ी से सामना कर खेल में शानदार प्रदर्शन किया तथा विजेता बने।

अब होगा सेबास्टियन कोर्डा से आमनासामना, कोर्डा मानते हैं नडाल को अपना आदर्श

गौरतलब है कि अगले दौर में नडाल का आमना सामना अमेरिका के सेबास्टियन कोर्डा से होने वाला है। सेबास्टियन कोर्डा नडाल को अपना आदर्श मानते हैं और उनकी तरह और अधिक अच्छा खिलाड़ी बनने की कोशिश भी करते हैं। वे कहते हैं कि उन्हें नडाल जैसे श्रेष्ठ खिलाड़ी के साथ खेलने का मौका मिलेगा इसलिए वे खुद को खुशकिस्मत भी मानते हैं।अब आगे होने वाले चौथे मुकाबले में रविवार के दिन दोनों के बीच कड़ा मुकाबला होने वाला है। इस चौथे मुकाबले में अपने आदर्श नडाल के साथ होने वाले टूर्नामेंट के बारे में वे काफी रोमांचित हैं। सेबास्टियन ने इस मुकाबले से पहले ट्वीट करके अपने विचार साझा करते हुए लिखते हैं, ‘ड्रिम कम ट्रू’।

20 साल के सेबास्टियन कोर्डा फ्रेंच ओपन से पहले कोई भी अन्य बाहरी टूर्नामेंट का में जीत नहीं पाए हैं। शुक्रवार के दिन उन्होंने स्पेन के अपने प्रतिद्वंदी खिलाड़ी मार्टनेज पोर्टेनेरो को तीसरे दौर में 6-4,6-3,6-1 से मात दी और चौथे दौर में प्रविष्ट हुए।

दूसरी ओर पुरुष एकल वर्ग के एक अन्य मैच के दौरान वावरिंका उलटफेर के शिकार भी हुए। वाल्डकार्ड से आए हुए ह्यूगो गैस्टन जो दुनिया के 239 नंबर के खिलाड़ी हैं उन्होंने वावरिंका को 2-6, 6-3, 6-3, 4-6, 6-0 से मात दी। 

थीम भी पहुंचे चौथे खेल के दौर में

आस्ट्रिया के डोमिनिक थीम, जो कि इसी वर्ष के अमेरिका ओपन मैच के विजेता बने, उन्होंने एक अन्य ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन के पुरुष एकल वर्ग के चौथे दौर में अपना स्थान बना लिया है। क्ले कोर्ट के इस ग्रैंड स्लैम के तीसरे दौर में थीम ने नोर्वे के केस्पर रड को सीधे सेटों में 6-4, 6-3, 6-1 से हरा दिया।

थीम के अनुसार, कैस्पर बहुत अच्छे और आकर्षित खिलाड़ी हैं और उनके अंदर बहुत आत्मविश्वास भी है। थीम कहते हैं कि कैस्पर क्ले कोर्ट के बड़े खिलाड़ी हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वे कोशिश करेंगे की कैस्पर को तीसरे सेट में मौका ना मिल पाए।

वहीं दूसरी तरफ, अमेरिका के सेबास्टियन कोर्डा 9 वर्षों के पश्चात इस टूर्नामेंट के चौथे दौर में पहुंच गए हैं और प्रथम क्वालीफायर खिलाड़ी बन चुके हैं। सेबास्टियन कोर्डा ने स्पेन के प्रेडो माíटनेज को 6-4, 6-3, 6-1 से हरा दिया था।

एंजेलिक केर्बर को भी कड़ी मेहनत के बाद मिली जीत

जर्मनी की एंजेलिक केर्बर जो कि दो बार की ग्रैंडस्लैम की विजेता रह चुकी हैं, वे भी चौथे दौर में पहुंच गईं हैं। एंजेलिक को इटली की खिलाड़ी कैमिला जिओर्जी ने बराबर की टक्कर दी थी, इसलिए यह जीत उनके लिए आसान नहीं थी। पूरे तीन सेट तक चलने वाले मुकाबले में अंत में एंजेलिक केर्बर ने 6-2, 7-6, 6-3 से जीत हासिल की। वर्ष 2016 में भी वे ऑस्ट्रेलियन ओपन तथा यूएस ओपन जीत चुकी हैं। जबकि इस वर्ष एंजेलिक विंबल्डन के फाइनल में हार भी गयी थीं।

कैरोलिना प्लिस्कोवा हुईं उलटफेर का शिकार

विश्व में नंबर-2 पर आने वाली चेक रिपब्लिक की कैरोलिना प्लिस्कोवा इस खेल में उलटफेर का शिकार हो गयी। उनको रूस की अनास्तासिया पावल्यूचेंकोवा, जो विश्व की नंबर-30 की खिलाड़ी हैं, उन्होंने खेल से बाहर खदेड़ दिया। यह मुकाबला करीब 2 घंटे 25 मिनट तक चला, जिसमें अनास्तासिया ने 7-6, 7-6 से जीत प्राप्त की।

अनास्तासिया तथा प्लिस्कोवा के मध्य हुआ ये 7वां मैच था। अनास्तासिया पूर्व में 6 मैचों में हार चुकीं हैं। इससे पहले हुए ऑस्ट्रेलियन टूर्नामेंट में वह क्वार्टरफाइनल तक पहुंच गयी थीं और कैरोलिना सेमीफाइनल में ही आउट होकर खेल से बाहर हो गयी थी। दूसरी ओर, छठी सीड बेलिंडा बेनसिच को भी 49 मिनट में ही मैच में आउट होकर बाहर का रास्ता देखना पड़ा। बेलिंडा बेनसिच को 28वीं सीड एस्टोनिया की अनेत कोंतवित ने 6-0, 6-1 से पराजित कर दिया।

रोमानिया की सिमोना हालेप भी पहुंची चौथे दौर में

चौथी सीड रोमानिया की सिमोना हालेप भी अब चौथे दौर में पहुंच चुकी हैं। पूर्व में दो बार ग्रैंड स्लैम की विजेता ने कजाखस्तान की खिलाड़ी यूलिया पुतिनत्सेवा को 6-1, 6-4 से मात दी है। इस टूर्नामेंट की दूसरी युवा खिलाड़ी यानि 18 वर्ष की इगा स्विटेक,15 साल की कोको गॉफ के पश्चात टूर्नामेंट के चौथे दौर में पहुंच चुकी हैं। विश्व में नंबर-20 की खिलाड़ी क्रोएशिया की डोना वेकिच, जो कि 23 साल की हैं उन को पोलैंड की इस खिलाड़ी ने 7-5, 6-3 से शिकस्त दी है।