पाकिस्तानी दिग्गज का बड़ा बयान, IPL ना खेल पाना पाकिस्तानीयों की बदकिस्मती

पाकिस्तानी दिग्गज का बड़ा बयान, IPL ना खेल पाना पाकिस्तानीयों की बदकिस्मती

IPL 2020 का आयोजन इस बार यूएई में किया जा रहा है। इस लीग में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खेलने का मौका साल 2008 के बाद से नहीं मिला है। वहीं अब पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने आइपीएल को टी20 क्रिकेट की वर्ल्ड का सबसे बड़ा ब्रांड करार दिया है। इसके अलावा आफरीदी ने अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि पाकिस्तानी क्रिकेटर्स को इसमें खेलने का मौका नहीं मिल रहा है। आइपीएल के पहले सीजन में ही पाकिस्तानी खिलाड़ियों को इस लीग में खेलने का मौका मिला था। 

ऐसा लग रहा है जैसे कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों के इस लीग में नहीं खेलने का दर्द अफरीदी का सता रहा है और उन्हें लगता है कि इस लीग में नहीं खेल पाने की वजह से पाकिस्तान के प्लेयर्स बड़ा मौका गंवा रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग क्रिकेट की दुनिया में सबसे बड़ा ब्रांड है। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर व कप्तान अफरीदी ने कहा कि ये लीग दुनिया का सबसे बड़ा ब्रांड है और बाबर आजम हों या फिर अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ी, उनके लिए ये भारत जाने, दवाब में खेलने और बड़े खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूप साझा करने का एक शानदार मौका हो सकता है। मेरा ऐसा मानना है कि पाकिस्तान के खिलाड़ी इस सुनहरे मौके को गंवा रहे हैं।  

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) को अफसोस है कि उनके टॉप खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) जैसे बड़े टूर्नामेंट नहीं खेल पा रहे जिससे उन्हें काफी फायदा मिल सकता था. पाकिस्तानी मीडिया में छपी खबर के अनुसार अफरीदी ने कहा कि आईपीएल किसी भी खिलाड़ी के लिये अनुभव हासिल करने, प्रदर्शन में सुधार करने और ‘एक्सपोजर’ के लिये बड़ा मंच है. गौरतलब है कि अफरीदी साल 2008 में आईपीएल की टीम डेक्कन चार्जर्स (Deccan Chargers) का हिस्सा थे.

उन्होंने कहा, ‘आईपीएल बड़ा ब्रांड है और मैं जानता हूं कि अगर हमारे खिलाड़ियों बाबर आजम और अन्य को इसमें खेलने का मौका मिलता है तो वे दबाव भरी परिस्थितियों में खेलना सीखते. बदकिस्मती से मौजूदा नीतियों के कारण हमारे खिलाड़ियों को यह बड़ा मंच नहीं मिल पा रहा.’ इस पूर्व ऑलराउंडर ने कहा कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों की आईपीएल से अनुपस्थिति क्रिकेट के कारण नहीं है.

अफरीदी का मानना है की दुनिया भर की अन्य लीगों में मांग है और अच्छी चीज है कि उनके पास अपनी प्रतिभा दिखाने, अनुभव हासिल करने और टॉप खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने के लिए खुद की टॉप लीग (पाकिस्तान सुपर लीग) है.’ पाकिस्तानी खिलाड़ी 2008 के आईपीएल सीजन के बाद से इस लीग का हिस्सा नहीं बन पाए हैं.

अफरीदी ने माना कि उन्हें इतने सालों तक भारत में क्रिकेट फैंस से काफी समर्थन मिला है. उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि भारत में मैंने क्रिकेट का लुत्फ उठाया है और मुझे भारत के लोगों से काफी प्यार और सम्मान मिला है. अब मैं सोशल मीडिया पर बात करता हूं तो मुझे भारत से काफी संदेश मिलते हैं और मैं कई लोगों को जवाब भी देता हूं।.मेरा मानना है कि भारत का अभी तक का तजुर्बा शानदार रहा है.’

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने कहा है कि बाबर आजम जैसे पाकिस्तानी खिलाड़ी आईपीएल से काफी कुछ सीख सकते थे. उन्होंने कहा कि हमारे प्लेयर्स एक बड़ा मौका गंवा रहे हैं.

पाकिस्तान के हरफनमौला खिलाड़ी और पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने कहा है कि जब तक मोदी सत्ता में रहेंगे तब तक भारत-पाकिस्तान के बीच किसी भी तरह का कोई क्रिकटे नहीं होगा. साथ ही उन्होंने आईपीएल को लेकर भी बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान के खिलाड़ियों को अगर आईपीएल खेलने का मौका मिलता तो वे इस टूर्नामेंट से काफी कुछ सीख सकते थे. उनके मुताबिक इस लीग में ये सीखा जा सकता है कि अंडर प्रेशर सिचुएशन को कैसे हैंडल किया जा सकता है.

अफरीदी ने आगे बात करते हुए  कहा की, ‘मैं जानता हूं कि क्रिकेट की दुनिया में इंडियन प्रीमियर लीग एक बहुत बड़ा ब्रांड है. यह बाबर आजम और अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ियों के लिए भारतीय कंडिशंस में खेलने और ड्रेसिंग रूम शेयर करने का एक शानदार मौका हो सकता है. मेरा मानना है कि पाकिस्तानी खिलाड़ी एक बड़ा मौका गवां रहे हैं.’

शाहिद अफरीदी ने अपने दिल की बात बताते हुए कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि मैंने भारत में क्रिकेट खेलने का काफी इंजॉय किया है. मैंने हमेशा भारत के लोगों से मिले प्यार और सम्मान की तारीफ भी की है. सोशल मीडिया पर भी मुझे भारत के लोगों के कई संदेश मिलते हैं और मैं उनका जवाब भी देता हूं. मेरा भारत में अच्छा एक्सपीरियंस रहा है.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीज़न संयुक्त अरब अमीरात में खेला जा रहा है. पहले इस टूर्नामेंट को 29 मार्च से होना था, लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था. हालांकि, अब यह टूर्नामेंट 19 सितंबर से यूएई में खेला जा रहा है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईपीएल के पहले सीज़न में पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था. लेकिन 2009 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तानी खिलाड़ियों के लिए यह लीग बैन कर दी गई है.

शाहिद अफरीदी से जब सवाल पूछा गया कि क्या उन्हें पाकिस्तान के मुकाबले भारत में ज्यादा प्यार मिला तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि, मैंने भारत में क्रिकेट खेलने का जमकर मजा उठाया है। मुझे वहां जो प्यार और सम्मान मिला है मैं उसकी हमेशा सराहना करता हूं। अब सोशल मीडिया के जरिए मैं कुछ कहता हूं तो मुझे भारत से काफी संदेश आते हैं और उनमें से कई लोगों की बातों का जवाब भी देता हूं। भारत में खेलने का मेरा अनुभव काफी अच्छा रहा है और ऐसा मेरा मानना है। 

इस ऑलराउंडर ने कहा कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों की आईपीएल से अनुपस्थिति क्रिकेट के कारण नहीं है। हमारे खिलाड़ियों की दुनिया भर की अन्य लीगों में मांग है और अच्छी चीज है कि उनके पास अपनी प्रतिभा दिखाने, अनुभव हासिल करने और शीर्ष खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने के लिये खुद की शीर्ष लीग (पाकिस्तान सुपर लीग) है। ’

पाकिस्तानी खिलाड़ी 2008 में आईपीएल के पहले चरण के बाद से इसका हिस्सा नहीं हैं। अफरीदी ने माना कि उन्हें इतने वर्षों तक भारत में प्रशंसकों से काफी समर्थन मिला है। इसमें कोई शक नहीं कि भारत में मैंने क्रिकेट का लुत्फ उठाया है और मुझे भारत के लोगों से काफी प्यार और सम्मान मिला है।’’

अफरीदी ने कहा, अब मैं सोशल मीडिया पर बात करता हूं तो मुझे भारत से काफी संदेश मिलते हैं और मैं कई लोगों को जवाब भी देता हूं। मेरा मानना है कि भारत का अभी तक का अनुभव शानदार रहा है।’’

दुनिया के दिग्गज क्रिकेटर इस लीग में अपना जलवा दिखाते हैं, लेकिन पाकिस्तानी क्रिकेटर इसके ग्लैमर से दूर हैं और पूर्व पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) का मानना है कि यह एक बड़ा अवसर है, जिससे पाकिस्तान (Pakistan) के युवा क्रिकेटर चूक रहे हैं.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपनी घरेलू टी20 लीग ‘पाकिस्तान क्रिकेट लीग’ (PCL) की शुरुआत की. पाकिस्तानी क्रिकेटर PCL समेत दुनिया की अन्य लीगों में खेलते हैं, लेकिन इनमें से किसी भी लीग का रुतबा IPL जैसा नहीं है. इसलिए पूर्व तूफानी बल्लेबाज अफरीदी का मानना है कि IPL बड़ा ब्रांड है और वहां बड़े अवसर हैं.