भारतीय तेज गेंदबाज़ फ़िक्सिंग के सभी आरोपों से हुए मुक्त!

भारतीय तेज गेंदबाज़ फ़िक्सिंग के सभी आरोपों से हुए मुक्त!

गौरतलब है कि 2013  में भारतीय तेज गेंबाज और उनके साथ दो अन्य खिलाड़ी अजीत चंडिला और अंकित छवन पर आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगाया गया था।  उसके तुरंत बाद इन तीनो खिलाड़ियों की गिरफ़्तारी हो गयी थी।  इस घटना को आज पुरे सात साल बीत चुके हैं।  हाई कोर्ट के आदेशों के मुताबिक श्रीसंत पर लगा सात साल का बैन आज ख़तम हो चूका है।  सोमवार से श्रीसंत को क्रिकेट दुनिया में वापसी करने की इजाजत मिल चुकी है।  

श्रीसंत ने आज एक न्यूज़ एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा ” मैं आज सभी आरोपों से मुक्त हो चूका हूँ।  कल से मैं अपनी हर गेंद पर अपना सो प्रतिशत देने की कोशिश करूँगा।  बेशक में किसी टूर्नामेंट का हिस्सा बनु या सिर्फ प्रैक्टिस करू , मेरा लक्ष्य हर गेंद को पिछली वाली से बेहतर बनाना ही होगा”।

37  साल के श्रीसंत ने कहा अभी वह पांच सात साल और क्रिकेट खेल सकते हैं।  यदि में अपनी फिटनेस साबित कर पाया तो हो सकता है मुझे घरेलू टूर्नामेंट में शामिल किया जाए।  मुझे एक बार फिर से भारत को अपना जोहर दिखाना है और एक बार फिर से भारत के लोगो का दिल जीतना है।  2015  में ही मुझ पर लगे सभी आरोप फर्जी साबित हो चुके थे।  परन्तु बीसीसीआई के आदेश मुताबिक मुझे सात साल के लिए बैन कर दिया गया था।  मैंने उनके फैसले  का स्वागत किया और आज मुझ पर लगा बैन भी खत्म हो चूका है।  अब मुझे फिर से एक बार क्रिकेट जगत में पहले से भी बड़ा नाम कमाना है।  

गौरतलब है कि स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लगने के तुरंत बाद बीसीसीआई ने श्रीसंत समेत तीनो खिलाड़ियों को आजीवन बैन कर दिया था।  श्रीसंत ने हार नहीं मानी और हाई  कोर्ट का रुख किया।  सिर्फ बीसीसीआई ही नहीं केरेला क्रिकेट बोर्ड ने भी श्रीसंत के आजीवन क्रिकेट खेलने पर रोक लगा दी थी।  2018  में केरेला सुप्रीम  कोर्ट ने और 2015  में हाई कोर्ट ने श्रीसंत को सभी आरोपों से निर्दोष पाते हुए बरी कर दिया।  बीसीसीआई ने श्रीसंत को निर्दोष पाते ही उन पर लगे आजीवन प्रतिबंध को घटा कर सात साल कर दिया था जो कि 13  सितम्बर रविवार को पूरा हो गया।  

श्रीसंत को एक बार फिर से मैदान में उतरने की इजाजत मिल चुकी है।  हालाँकि अभी कोरोना की वजह से किसी भी घरेलू टूर्नामेंट का आयोजन नहीं किया जा रहा है।  बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने घोषणा करते हुए कहा कि आईपीएल के बाद हम घरेलू टूर्नामेंट दुबारा शुरू करने पर विचार विमर्श करेंगे और उम्मीद है जल्द से जल्द टूर्नामेंट फिर से करवाए जाएं।  वही दूसरी तरफ केरेला क्रिकेट बोर्ड भी श्रीसंत का साथ देने को तैयार है और उन्हें भरोसा दिलाया है कि बोर्ड उन्हें घरेलू टूर्नामेंट में हिस्सेदारी दिलाने की भरपूर कोशिश करेगा।  

हालाँकि श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लगे परन्तु भारतीय क्रिकेट प्रेमी आज भी उनकी गेंदबाजी के दीवाने हैं।  वह सभी अपने पसंदीदा गेंदबाज को एक बार फिर से स्वागत करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।  दूसरी तरफ श्रीसंत भी दुबारा मैदान का रुख करने के लिए बेहद उत्साहित हैं।  

क्रिकेट से जुडी हर ब्रेकिंग न्यूज़  को सब से पहले जानने के लिए तुरंत लाइक और सब्सक्राइब करें हमारा पेज!