IPL 2020 : दोस्ती ने रोका आश्विन को फ्रिंच की विकेट लेने से; फैंस ने लिया आड़े हाथ!

IPL 2020 : दोस्ती ने रोका आश्विन को फ्रिंच की विकेट लेने से; फैंस ने लिया आड़े हाथ!

दुबई में 5 अक्टूबर को आईपीएल 2020 का 19 वां मैच रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेला गया था। इस शानदार मुकाबले में श्रेयस अय्यर की कप्तानी वाली टीम दिल्ली कैपिटल्स ने विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को शिकस्त दी थी। जहां दिल्ली कैपिटल के खिलाड़ी और बेहतरीन स्पिनर आर अश्विन ने मैच के दौरान रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की बेहतरीन बल्लेबाज आरोन फिंच को मांकडिंग आउट नहीं किया था। उस समय इसके पीछे की वजह यह मानी गई थी, कि पोंटिंग ने उन्हें ऐसा ना करने की चेतावनी दी थी। लेकिन, ऐसा नहीं था असल बात का खुलासा अब अश्विन ने अपने यूट्यूब चैनल के द्वारा कर दिया है।

आर अश्विन ने अपने यूट्यूब चैनल पर एरोन फिंच को आउट ना करने का कारण बताते हुए कहा, कि सोमवार को आईपीएल मैच के दौरान फिंच को नॉन स्ट्राइक पर क्रीज के बाहर जाने के बाद भी दोस्ती के वजह से उन्हें रन आउट नहीं किया और उन्हें अंतिम चेतावनी के रूप में यानी केवल नसीहत देकर छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि वे एक दूसरे को काफी अच्छी तरह से जानते हैं और 2018 में  किंग्स इलेवन पंजाब के तरफ से दोनों ने एक साथ कई मैच खेले थे।  हमने उस दौरान एक साथ बहुत अच्छा वक्त बिताया था,  वो काफी अच्छे इंसान हैं और मेरे बहुत अच्छे दोस्त भी  है।

अश्विन ने कहा, कि मैं गेंद फेंकने ही वाला था कि तभी मेरी नजर एरोन फिंच के ऊपर गई। जो उस समय क्रीज से काफ़ी आगे निकले हुए थे। मै वहीं रुक गया और उन्हें आउट करने के बारे में सोचने लगा और एरोन फिंच भी मुझे देखने लगे। लेकिन,  वह क्रीज पर वापस नहीं आए और वहीं रुके रहे। मैं यह नहीं जानता था कि वह वहां क्यों रुके रहे हैं।

आईपीएल शुरू होने से पहले रिकी पोंटिंग ने कहा था मंकड़िंग से आउट ना करने को लेकर अश्विन से बात करेंगे

2019 में खेले गए आईपीएल मैच में अश्विन ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ बेहतरीन बल्लेबाज जोस बटलर को नॉन स्ट्राइक पर क्रीज से बाहर जाने के कारण रन आउट कर दिया था। अश्विन उस समय किंग्स इलेवन पंजाब की टीम के कप्तान थे। इस वजह से अश्विन बहुत सारे विवादो के घेरे मे आ गए थे और साथ ही कई क्रिकेटरों ने इस बात किआलोचना भी की थी। वहीं इस साल आईपीएल 2020 शुरु होने से पहले ही दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा था, कि वह अश्विन से मांकड़िंग से आउट नहीं करनी को लेकर बात करेंगे।

रिकी पोंटिंग ने कहा टीमों की रन कटौती को लेकर चल रही है आईसीसी से बात

आर अश्विन नहीं इस बात का खुलासा करते हुए बताया कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की मैच के बाद टीम के कोच रिकी पोंटिंग से उनकी चैटिंग पर बात हुई थी, जहां पोंटिंग ने उन्हें कहा था कि मुझे फिंच को रन आउट कर देना चाहिए था। हालांकि, उन्होंने कहा है कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसलिंग यानी आईसीसि से पेनल्टी के तौर पर टीमों के रन काटने को लेकर  बात कर रहे हैं खासकर जिनके खिलाड़ी नॉन स्ट्राइक में इससे बेहद दूर निकल जाते हैं।

अश्विन ने कहा सजा के तौर पर 10 रन काटे जाने चाहिए

अश्विन का कहना है, कि मैं चाहता हूं वैसी टीमों के खिलाफ गंभीर सजा तय होनी चाहिए, जिनके खिलाड़ी इस बात को नज़रंदाज़ करते हुए, नॉन स्ट्राइक पर गेंद फेंकने से पहले ही क्रिज़ से बाहर निकल जाते हैं। उनका कहना है, कि उस टीम को सजा के तौर पर कम से कम 10 रन काटे जाने चाहिए 

गेंदबाजों की मजबूरी है, मंकडिंग आउट करना 

आर अश्विन का कहना है, कि वैसे बल्लेबाज जो नॉन स्ट्राइक पर क्रीज छोड़ कर आगे बढ़ जाते हैं। उन्हें इस तरह आउट करना कोई स्किल कि बात नहीं है। लेकिन गेंदबाजों के पास कोई और विकल्प नहीं होता है, और जब तक बल्लेबाज नॉन स्ट्राइक पर क्रीज छोड़कर और आगे रहकर रन लेते रहेंगे और इसके लिए उन बल्लेबाजों को कोई पछतावा नहीं होगा, तब तक यह ऐसा ही चलता रहेगा।  मैं भी हमेशा कोई पुलिस की तरह चौकीदारी नहीं करता रहूंगा 

आखिर क्या है मंकडिंग

खेल के दौरान कोई भी गेंदबाज गेंदबाजी के लिए जब रान अप ले रहा है, मतलब दौड़ रहा है, यानी कि  जब भी कोई गेंदबाज गेंद फेंकने के लिए एक्शन लेता है या गेंद फेंकने के लिए तैयार रहता है और अगर ठीक  उसी समय नॉन स्ट्राइकिंग एंड पर मौजूद बल्लेबाज यदि क्रीज से बाहर निकल जाते हैं, तो गेंदबाज वहां की बेल्स गिरा सकता है और इसी तरह के आउट करने के तरीके को ही मांकडिंग कहा जाता है। 13 दिसंबर 1947 की यह बात है, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक टेस्ट मैच के दौरान भारत के खिलाड़ी वीनू मांकड़ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी बिल ब्राउन को भी इसी तरह आउट किया था और इसी के बाद से ही वीनू के सरनेम के आधार पर इस तरीके को आउट मांकड़िंग कहा जाने लगा।

इससे पहले भी अश्विन कि मांकड़िंग को लेकर हो चुकि है काफी आलोचनाओं 

पिछले साल भी आईपीएल मैच के दौरान बेहतरीन गेंदबाज और गजब के स्पिनर आर अश्विन विवादों के घेरे में आ गए थे। जब उन्होंने जॉस बटलर को इसी तरह यानी मांकडिंग से आउट किया था। कितने क्रिकेटरों ने तो इसे नीच और खेल भावना के विपरीत बताया था। उस समय आर अश्विन किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान थे। लेकिन इस बार आर अश्विन किंग्स इलेवन पंजाब की टीम में शामिल नहीं है। इस साल वह दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेल रहे हैं। आईपीएल 2020 कि शुरुआत होने से पहले कोच पोंटिंग ने कहा था,  कि वह अश्विन को इस तरह से यानी मांकड़िंग से बल्लेबाजों को आउट करने नहीं देंगे। हालांकि  पोंटिंग और अश्विन ने यूएई में इस बात पर चर्चा भी की थी।  

मैच के दोरान अश्विन ने जब एरोन फिंच को चेतावनी देकर छोड़ दिया तब पोंटिंग मुस्कुराते हुए नजर आ रहे थे।

हालांकि, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ हो रहे मैच में आर अश्विन ने 4 ओवरों में 26 रन देकर 1 विकेट लिया था  अश्विन ने तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर बेंगलुरु के जबरदस्त बल्लेबाज देवदत्त पादिक्कल का विकेट लेकर दिल्ली कैपिटल्स को पहली सफलता दिलाई थी।